back-arrow-image Search Health Packages, Tests & More

0%

Language

वायरल फ़ीवर : लक्षण, कारण, निदान, उपचार और रोकथाम

1114 Views

0

वायरल फ़ीवर, जिसे अक्सर बुखार संबंधी वायरल बीमारी के रूप में जाना जाता है, एक व्यापक स्वास्थ्य जोखिम है जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती है। यह शरीर के बहुत ज्यादा तापमान और अलग अलग तरह के लक्षणों से पहचाना जाता है। वायरल फ़ीवर कई वायरस के कारण होता है और यह हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकता है। यह लेख वायरल फ़ीवर की कई विशेषताओं, जैसे इसके लक्षण, कारण, निदान, उपचार और निवारक तकनीकों के बारे में बताएगा।

लक्षण

वायरल फ़ीवर अक्सर कई लक्षणों के साथ सामने आता है जिनकी गंभीरता अलग-अलग होती है। विशेष लक्षणों में शामिल हैं:

Fever फ़ीवर: वायरल फ़ीवर की विशेषता शरीर का बढ़ा हुआ तापमान है। यह फ़ीवर मध्यम से गंभीर तक हो सकता है और आमतौर पर ठंड लगने और पसीने के साथ आता है।

Weakness and Fatigue कमजोरी और थकान: वायरल फ़ीवर से पीड़ित लोगों को अक्सर कमजोरी और थकावट महसूस होती है, जिस कारण उन्हें रोजमर्रा के काम करने में समस्या आ सकती है।

Body Aches and Pain शरीर में दर्द: वायरल फ़ीवर होने पर मांसपेशियों और जोड़ों में समस्या होना आम बात है। यहां सामान्य से लेकर तेज दर्द हो सकता है।

Headache सिरदर्द: सिरदर्द आम है और मध्यम से गंभीर तक हो सकता है, जिससे व्यक्ति को बहुत ज्यादा असुविधा हो सकती है।

Sore Throat and Cough गले में खराश और खांसी: कई वायरल इंफ़ेक्शन के कारण गले में दर्द और लगातार खांसी हो सकती है।

Runny or Stuffy Nose बहती या भरी हुई नाक: नाक बंद होना, छींक आना और नाक बहना अक्सर वायरल फ़ीवर के लक्षण होते हैं, खासकर रेस्पीरेट्री इंफेक्शन के मामलों में।

Gastrointestinal Symptoms गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण: कुछ वायरल फ़ीवर में जी मिचलाने, उल्टी और दस्त जैसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण सामने आ सकते हैं।

कारण

बहुत सारे वायरस वायरल फ़ीवर का कारण बन सकते हैं, और हर एक का अपना ट्रांसमिशन का रास्ता होता है। वायरल फ़ीवर का कारण बनने वाले कुछ सबसे आम वायरस हैं:

Influenza Virus इन्फ्लूएंजा वायरस: इन्फ्लूएंजा वायरस इन्फ्लूएंजा का कारण बनता है, जिसे कभी-कभी फ्लू भी कहा जाता है, जो बहुत ज्यादा संक्रामक होता है और रेस्पीरेट्री ड्रॉपलेट से फैलता है।

Rhinovirus राइनोवायरस: सामान्य सर्दी का कारण बनता है और संक्रमित सतहों या मनुष्यों के सीधे संपर्क से फैलता है।

Dengue Virus डेंगू वायरस: डेंगू फ़ीवर, मच्छरों से फैलता है, अगर इसका तुरंत इलाज न किया जाए तो गंभीर लक्षण सामने आ सकते है।

Chikungunya Virus चिकनगुनिया वायरस: चिकनगुनिया फ़ीवर मच्छरों से फैलता है, इसमें जोड़ों में परेशानी और फ़ीवर  होती है।

Ebola Virus इबोला वायरस: एक असामान्य लेकिन गंभीर वायरस है जिसमे हेमोर्हेजिक फ़ीवर आता है और यह ज्यादातर बॉडी फ्लूयड के सीधे संपर्क से फैलता है।

ZikaVirus ज़िकावायरस: ज़िका वायरस, बड़े पैमाने पर संक्रमित एडीज मच्छरों से फैलता है, इसमें बर्थ एब्नॉर्मलिटी और न्यूरोलॉजिकल इलनेस का कारण बनता है जिस वजह से यह अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है।

West Nile Virus वेस्ट नाइल वायरस: वेस्ट नाइल वायरस, मच्छर के काटने से लोगों में फैलता है, इसमें फ्लू जैसे लक्षणों के साथ-साथ गंभीर मामलों में एन्सेफलाइटिस और मेनिनजाइटिस जैसी न्यूरोलॉजिकल समस्याएं हो सकती हैं।

निदान

वायरल फ़ीवर के निदान में क्लीनिकल इवैल्यूएशन और लेबोरटोरी टेस्ट का संयोजन शामिल होता है। एक डॉक्टर रोगी के लक्षणों, मेडिकल हिस्ट्री और शारीरिक परीक्षण को ध्यान में रखेगा। संदिग्ध वायरस के आधार पर, टेस्ट में ब्लड टेस्ट, थ्रोट स्वैब या रेस्पीरेट्री सैंपल शामिल हो सकते हैं। ये टेस्ट प्रभावी  वायरस की पहचान करने और अन्य संभावित इंफेक्शन को दूर करने में मदद करते हैं।

Fever Profile (Mini) फ़ीवर प्रोफ़ाइल (मिनी)

यह फ़ीवर आने के कारणों को व्यवस्थित तरीके से पता करने के लिए तैयार किया गया एक संक्षिप्त निदान पैकेज है। इसमें कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC हेमोग्राम), एरिथ्रोसाइट सेडिमेंटेशन रेट (ESR), मलेरिया पैरासाइट डिटेक्शन, टाइफाइड के लिए विडाल टेस्ट और रूटीन एग्जामिनेशन यूरिन सहित सभी जरुरी टेस्ट शामिल हैं।

Fever Profile (Maxi) फ़ीवर प्रोफ़ाइल (मैक्सी)

इस व्यापक निदान संकलन का उद्देश्य फ़ीवर के अलग अलग कारणों का पता लगाना है। इस तरह के टेस्ट में कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC हेमोग्राम), रूटीन एग्जामिनेशन यूरिन, एरिथ्रोसाइट सेडीमेंटशन रेट (ESR), मलेरिया पैरासाइट डिटेक्शन, सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसअमिनेज़ (SGPT), टाइफी डॉट IgM, और सिंगल ब्लड बॉटल में एरोबिक बैक्टीरिया के लिए कल्चर और सेंस्टिविटी शामिल हैं।

Fever Profile (Super Mini) फ़ीवर प्रोफ़ाइल (सुपर मिनी)

यह एक सुव्यवस्थित, फिर भी व्यापक निदान समूह है जिसे खास तौर पर बुखार के बुनियादी कारणों का व्यवस्थित रूप से पता लगाने के लिए डिज़ाइन किया गया है जिसमें कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC हेमोग्राम), डेंगू (NS 1) एंटीजन, मलेरिया पैरासाइट डिटेक्शन, टाइफी डॉट IgM, रूटीन एग्जामिनेशन यूरिन और चिकनगुनिया-IgM जैसे प्रमुख आकलन शामिल हैं।

Fever Profile (Super Maxi) फ़ीवर प्रोफाइल (सुपर मैक्सी)

यह फ़ीवर पैनल फ़ीवर आने के बहुत सारे कारणों को सावधानीपूर्वक पता लगाने के लिए तैयार किया गया है। इसमें कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC हेमोग्राम), रूटीन एग्जामिनेशन यूरिन, सी रिएक्टिव प्रोटीन (CPR), मलेरिया पैरासाइट डिटेक्शन, सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेज (SGPT), टाइफी डॉट IgM, सिंगल ब्लड बॉटल में एरोबिक बैक्टीरिया के लिए कल्चर और सेंसटिविटी, डेंगू (NS1) एंटीजन, चिकनगुनिया-आईजीएम, और लेप्टोस्पाइरा IgM सहित महत्वपूर्ण टेस्ट का एक स्पेक्ट्रम शामिल है।

Fever Profile Detection by Real-Time Multiplex PCR रियल-टाइम मल्टीप्लेक्स पीसीआर से फ़ीवर प्रोफाइल का पता लगाना

इस प्रोफ़ाइल में अत्याधुनिक स्टेट-ऑफ़-आर्ट  रियल-टाइम मल्टीप्लेक्स पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन (PCR) तकनीक का इस्तेमाल होता है जिससे फ़ीवर पैदा करने वाले एजेंटों के जटिल स्पेक्ट्रम को कुशलतापूर्वक समझने में मदद मिलती है। यह नई प्रोफ़ाइल कई तरह के बीमारी पैदा करने वाले तत्वों का एक साथ पता लगाने में मदद करती है, जिसमें प्लाज़मोडियम स्पीशीज, डेंगू वायरस, साल्मोनेला स्पीशीज, रिकेट्सिया स्पीशीज, चिकनगुनिया वायरस, वेस्ट नाइल वायरस, लेप्टोस्पाइरा स्पीशीज और ज़िका वायरस शामिल हैं।

उपचार

ज्यादातर वायरल बीमारियां बैक्टीरिया के खिलाफ प्रभावी एंटीबायोटिक दवाओं  नहीं होतीं, इसलिए वायरल फ़ीवर के लिए सहायक देखभाल प्राथमिक उपचार है। उपचार का लक्ष्य लक्षणों से राहत देना और हालत में सुधार लाना है। इसमें नीचे बताए गए उपचार प्रभावी हैं:

Rest आराम: शरीर को इंफ़ेक्शन से लड़ने और फिर से ताकत जुटाने के लिए पर्याप्त आराम जरुरी है।

Hydration हाइड्रेशन: हाइड्रेटेड रहने से शरीर को सामान्य रूप से काम करने में मदद मिलती है साथ ही फ़ीवर के कारण फ्लूइड में हुई कमी को भी दूर किया जा सकता है।

Fever Reducers बुखार कम करने वाली दवाएं: एसिटामिनोफेन या इबुप्रोफेन जैसी ओवर-द-काउंटर दवाएं तापमान और दर्द को कम करने में मदद कर सकती हैं।

Symptomatic Relief लक्षणों से राहत: कफ सिरप, बंद नाक के लिए दवाएं और गले की दवाएं खास लक्षणों से अस्थायी राहत देती हैं।

Nutrition पोषण: एक अच्छी तरह से संतुलित, पोषक तत्वों से भरपूर भोजन से इम्युनिटी बधाई जा सकती है जिससे शरीर इंफ़ेक्शन से लड़ सके।

गंभीर मामलों में अस्पताल में भर्ती करने की जरुरत पड़ सकती है, खास तौर पर डेंगू या इबोला जैसे संक्रमणों के लिए।

बचाव

वायरल फ़ीवर से बचने के लिए निजी स्वछता के तरीके अपनाना और टीकाकरण करवाना जरुरी है:

Hygiene स्वच्छता: साबुन और पानी से नियमित हाथ धोना, बीमार लोगों के सीधे संपर्क से बचना और छींकने या खांसने पर अपने मुंह और नाक को ढंकना वायरल ट्रांसमिशन के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

Vaccination टीकाकरण: इन्फ्लूएंजा, खसरा और मम्प्स सहित अलग अलग वायरस के लिए टीके उपलब्ध हैं। समय पर निर्धारित टीके लगवाने से कुछ वायरल बीमारियों से सुरक्षा मिल सकती है।

Mosquito Control मच्छर नियंत्रण: डेंगू और चिकनगुनिया जैसी मच्छर जनित वायरल बीमारियों को रोकने के लिए मच्छर निरोधकों का इस्तेमाल करें, सुरक्षा के लिए कपड़े पहनें और रुके हुए जल स्रोतों को खत्म करें।

वायरल फ़ीवर एक सामान्य चिकित्सीय स्थिति है जो मामूली परेशानी से लेकर गंभीर बीमारी तक का कारण बन सकती है। इंफेक्शन के खतरे को कम करने के लिए इसके संकेतों को पहचानना, इसके कारणों को समझना और निवारक कार्रवाई करना महत्वपूर्ण है। जबकि थेरेपी आम तौर पर लक्षण प्रबंधन और रिकवरी पर केंद्रित होती है, अच्छी स्वच्छता और टीकाकरण से रोकथाम वायरल फ़ीवर और इसके परिणाम से लड़ने का सबसे प्रभावी तरीका है।

Talk to our health advisor

Book Now

LEAVE A REPLY

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular Tests

Choose from our frequently booked blood tests

TruHealth Packages

View More

Choose from our wide range of TruHealth Package and Health Checkups

View More

Do you have any queries?