Do you have any queries?

or Call us now at 9982-782-555

;
back-arrow-image Search Health Packages, Tests & More

Language

पीसीवी टेस्ट : क्या है? उपयोग, परीक्षण परिणाम और सामान्य सीमा

7357 Views

0

पैक्ड सेल वॉल्यूम क्या है?

पैक्ड सेल वॉल्यूम टेस्ट (पीसीवी टेस्ट) एक रूटीन ब्लड टेस्ट है जो आपके ब्लड सैंपल में ब्लड सेल्स के स्तर को मापता है। इस पैरामीटर का विश्लेषण करके, डॉक्टर आपके रक्त की ऑक्सीजन-वहन क्षमता का आकलन कर सकते हैं, जो किसी भी संभावित अब्नोर्मलिटी का पता लगाने में मदद करता है जो आपके शरीर में किसी विशेष स्वास्थ्य स्थिति या असंतुलन का संकेत दे सकता है। इसे हेमटोक्रिट टेस्ट के रूप में भी जाना जाता है, और इस स्क्रीनिंग टेस्ट का उपयोग व्यक्तियों में डीहाइड्रेशन, एनीमिया या पॉलीसिथेमिया की पहचान करने के लिए किया जाता है।

  • डीहाइड्रेशन तब होता है जब अपर्याप्त फ्लूइड इन्टेक होता है या शरीर से ज़्यादा फ्लूइड लोस्स होता है।
  • एनीमिया रेड ब्लड सेल्स की संख्या या शेप में कमी या हीमोग्लोबिन के लेवल में कमी से होता है।
  • दूसरी ओर, पॉलीसिथेमिया तब होता है जब बोन मेरो द्वारा रेड ब्लड सेल उत्पादन में एब्नार्मल बढ़ोत्तरी होती है।

इसलिए, पीसीवी टेस्ट एक आसान लेकिन पावरफुल टूल है जो विभिन्न ब्लड संबंधी विकारों का शीघ्र पता लगाने और रोकथाम में सहायता करता है, और जरूरी समय होने पर मेडिकल इंटरवेंशन सुनिश्चित करता है।

पीसीवी टेस्ट का उपयोग किस लिए किया जाता है?

पीसीवी टेस्ट ब्लड सैंपल में मौजूद रेड ब्लड सेल्स के लेवल को मापता है। यदि रोगी को एनीमिया है,तो पीसीवी लेवल कम होता है। इसका मतलब है कि रेड ब्लड सेल्स (आरबीसी) कम है। जबकि पॉलीसिथेमिया के मामले में, पैक्ड सेल की मात्रा अधिक होती है। यह हेमटोक्रिट परीक्षण आपके डॉक्टर को मेडिकल ट्रीटमेंट के प्रति आपकी प्रतिक्रिया को ट्रैक करने में भी मदद करता है। इसीलिए डॉक्टर इस टेस्ट को कंप्लीट ब्लड काउंट (सीबीसी) के रूप में करते हैं।

पीसीवी टेस्ट के दौरान क्या होता है?

पीसीवी टेस्ट की प्रक्रिया नार्मल ब्लड टेस्ट जैसी होती है। इसके लिए उपवास या किसी अन्य तैयारी की ज़रूरत नहीं है। आमतौर पर, मेडिकल अटेंडेंट आपका ब्लड सैंपल लेता है। आपको प्रभावित क्षेत्र में हल्का दर्द महसूस हो सकता है। हालांकि, पीसीवी टेस्ट से जुड़े कोई रिस्क नहीं हैं।

इसके बाद लैब ब्लड सैंपल को चेक करती है, प्लाज़्मा और ब्लड सेल्स को अलग करती है, और फिर आपके ब्लड में रेड ब्लड सेल्स को निर्धारित करने के लिए उपाय करती है।

ब्लड टेस्ट में पीसीवी की नॉर्मल रेंज क्या है?

पुरुषों के लिए पीसीवी की नार्मल रेंज आम तौर पर 38.3% और 48.6% के बीच होती है, जबकि महिलाओं के लिए पीसीवी की नार्मल रेंज 35.5% से 44.9% की रेंज के अंदर आती है।

15 वर्ष और उससे कम आयु के बच्चों में, एक्सेप्टेबल पीसीवी रेंज 30% से 44% के बीच हो सकती है। हालांकि, उम्र, नस्ल और लिंग जैसे कई फैक्टर ब्लड टेस्ट में पीसीवी की इस अपेक्षित रेंज को प्रभावित करते हैं।

इसके अलावा, रेड ब्लड सेल्स के स्टैण्डर्ड परसेंटेज की परिभाषा अलग-अलग हो सकती है। इसका कारण यह है कि लैब्स अपने विशिष्ट क्षेत्र में जनसंख्या की डेमोग्राफिक के आधार पर एक हेल्थी रेंज स्थापित करती हैं।

मुझे पीसीवी टेस्ट क्यों करवाना चाहिए?

पीसीवी (पैक्ड सेल वॉल्यूम) टेस्ट विभिन्न कारणों से ज़रूरी है:

  • ब्लड में रेड ब्लड सेल्स की मात्रा को मापकर एनीमिया, पॉलीसिथेमिया या डीहाइड्रेशन जैसी स्थितियों की पहचान करना।
  • रेड ब्लड सेल्स को प्रभावित करने वाली स्थितियों के लिए ट्रीटमेंट की प्रभावशीलता का आकलन करना।
  • ब्लड ट्रांस्फ्यूशन के प्रभाव सहित, शरीर कैसे प्रतिक्रिया करती है इसका मूल्यांकन करना।
  • अपने ओवरआल हैल्थ और कुछ मेडिकल कंडीशन  के विकसित होने के रिस्क के बारे में जानकारी प्राप्त करना।

महिलाओं में पीसीवी कम क्यों होता है?

किशोर महिलाओं की ब्लड सेल्स में आमतौर पर पुरुषों की तुलना में हीमोग्लोबिन की कंसंट्रेशन कम होती है। यह महिलाओं में देखे गए ब्लड टेस्टों में कम पीसीवी का प्रमुख कारण है। इसके अलावा, प्रेगनेंसी के दौरान आमतौर पर बल्लोद में एक्स्ट्रा फ्लूइड के कारण पीसीवी में थोड़ी कमी आ जाती है।

ब्लड टेस्ट में कम पीसीवी के क्या कारण हैं?

लो पीसीवी लेवल को विभिन्न स्वास्थ्य स्थितियों से जोड़ा जाता है, जिनमें बोन मेरो डिसऑर्डर, कैंसर, किडनी फेलियर, थैलेसीमिया, सिकल सेल एनीमिया और ऑटोइम्यून डिसीस शामिल हैं। लो पीसीवी के कुछ लक्षण हैं - स्किन का पीला रंग, कमज़ोरी, लगातार थकान, लो एनर्जी, सांस लेने में कठिनाई, अनियमित रेस्पिरेटरी पैटर्न और ठंडे हाथ-पैर ये सुझाव दे सकते हैं कि किसी व्यक्ति की पीसीवी रेंज नार्मल से कम है।

ब्लड टेस्ट में पीसीवी कैसे बढ़ाएं?

विभिन्न लाइफस्टाइल और डेमोग्राफिक फैक्टर किसी व्यक्ति के हेमाटोक्रिट लेवल में योगदान करते हैं। अगर आपके पीसीवी टेस्ट का लेवल लौ रेंज में है, तो ब्लड टेस्ट में पीसीवी को बढ़ाने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं:

  • आयरन, विटामिन बी-12 और फोलिक एसिड जैसे सप्लीमेंट लें।
  • ब्लड ट्रांस्फ्यूशन, बोन ट्रांसप्लांट, ऑक्सीजन थेरेपी और पैन रिलीफ मेडिसिन जैसे ट्रीटमेंट का उपयोग किया जा सकता है।
  • आयरन, विटामिन ए, विटामिन बी12 और फोलिक एसिड से भरपूर डाइट लें। ज़्यादा डेयरी प्रोडक्ट, पत्तेदार हरी सब्जियाँ, नट्स, चॉकलेट, साबुत अनाज आदि खाने पर विचार करें।
  • हाइड्रेटेड रहें, नियमित व्यायाम करें और शराब का सेवन कम करें।

निष्कर्ष

कम पैक्ड सेल वॉल्यूम (पीसीवी) के ट्रीटमेंट में एक बहुआयामी दृष्टिकोण शामिल है, जिसमें सप्लीमेंट और इंटेंसिव ट्रीटमेंट शामिल है। ये इंटरवेंशन ऑप्टीमल ब्लड हेल्थ को बहाल करने और बनाए रखने में महत्वपूर्ण हैं। अगर आप अपने पीसीवी टेस्ट करवाने के लिए किसी विश्वसनीय स्रोत की तलाश कर रहे हैं, तो मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर के साथ अधिकतम सुविधा के लिए अपने घर पर एक्सपर्ट को बुलाएं। यूज़र-फ्रेंडली मेट्रोपोलिस ट्रूहेल्थ ऐप से अपनी रिपोर्ट आसानी से पाएं और अपनी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी को तुरंत ट्रैक करें।

Talk to our health advisor

Book Now

LEAVE A REPLY

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular Tests

Choose from our frequently booked blood tests

TruHealth Packages

View More

Choose from our wide range of TruHealth Package and Health Checkups

View More

Do you have any queries?