Do you have any queries?

or Call us now at 9982-782-555

;
back-arrow-image Search Health Packages, Tests & More

Language

मानसून डाइट: बरसात के मौसम में क्या खाएं और क्या न खाएं

1216 Views

0

परिचय

मानसून का आनंद लेते समय, इस मौसम से जुड़ी स्वास्थ्य समस्याओं को याद रखना महत्वपूर्ण है। मानसून के मौसम में वातावरण में नमी हमारे शरीर को कई संक्रमणों और बीमारियों के प्रति अधिक संवेदनशील बनाती है। इसलिए, हमें इस मौसम में अपने आहार पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है ताकि एक सुनियोजित मानसून डाइट का पालन किया जा सके।

इस ब्लॉग का उद्देश्य आपको इस बारे में विस्तृत मार्गदर्शन प्रदान करना है जो इस मौसम में संतुलित मानसून डाइट प्लान के तहत आपको किन खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए और किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए। यह गाइड इस बात को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है कि आप जो भी खाएं, उससे न केवल आपकी भूख मिटे बल्कि यह मानसून से जुड़ी बीमारियों से लड़ने के लिए आपके इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करे।

मौसमी फलों का सेवन करें   

मौसमी फल विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं और आपको इन्हें अपने मानसून डाइट में शामिल करना चाहिए। मानसून के दौरान सेब, नाशपाती, अनार, लीची और केले जैसे फलों का सेवन करें। इनमें पानी की मात्रा कम होती है और इसलिए ये पानी से होने वाली बीमारियों के जोखिम को कम करते हैं। हालाँकि, आम खाते समय सावधान रहें अगर ज़्यादा खाया जाए तो यह त्वचा की समस्याएँ जैसे कि पिंपल्स का कारण बन सकता है।

गर्म तरल पदार्थों से हाइड्रेटेड रहें

हाइड्रेटेड रहना आपके स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, खासकर मानसून के दौरान जब मौसमी नमी निर्जलीकरण का कारण बन सकती है। अदरक, काली मिर्च, शहद, पुदीना और तुलसी के पत्तों वाली हर्बल टि जैसे गर्म तरल पदार्थ पिएं। यह न केवल आपको हाइड्रेट रहने में मद्दत करते है, बल्कि इसमें जीवाणुरोधी गुण भी होते हैं जो आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देते हैं। हालाँकि, कॉफी और चाय आपको निर्जलित कर सकती है, इसलिए कोशिश करें कि बहुत ज़्यादा न पिएं।

हल्का और ताजा खाना खाएं

हल्का और ताजा खाना आपके मानसून डाइट एक महत्वपूर्ण पहलू होना चाहिए। भारी भोजन पचाने में मुश्किल हो सकता है, लेकिन ताजा भोजन संक्रमण के जोखिम को कम करता है। मानसून के दौरान, अपने आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे ब्राउन राइस, ओट्स, बार्ली आदि शामिल करें। सूप और करी में एक चुटकी लहसुन डालें क्योंकि यह एक नेचुरल इम्यूनिटी बूस्टर है।

उबली हुई सब्ज़ियाँ खाएँ

मानसून के मौसम में कच्ची सब्जियों में हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस मौजूद हो सकते हैं जो कई तरह के संक्रमणों का कारण बन सकते हैं। अपने मानसून डाइट प्लान में कच्चे सलाद की जगह उबले हुए सलाद को शामिल करें। क्यूंकि उबली हुई सब्जियां पचने में आसान होती हैं और इन्हें पकाने की प्रक्रिया बैक्टीरिया को प्रभावी ढंग से मिटा सकती है।

प्रोबायोटिक्स शामिल करें

दही और बादाम दूध जैसे प्रोबायोटिक खाद्य पदार्थों को शामिल करने से न केवल पाचन में मदद मिलती है बल्कि इम्यून सिस्टम को भी बढ़ावा मिलता है। वे दूध का एक स्वस्थ विकल्प हैं, जो मानसून के दौरान ब्लोटिंग और बदहजमी का कारण बनता है।

कड़वा बेहतर है

कड़वी सब्जियां जैसे करेला और जड़ी-बूटियाँ जैसे नीम, हल्दी पाउडर और मेथी के बीजों का सेवन संक्रमणों को रोकने के लिए और हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करते हैं। इन्हें आप अपने मानसून डाइट में जरूर शामिल करें।

अपने मानसून डाइट में क्या करें

इस मौसम में स्वस्थ रहने के लिए, अपने मानसून डाइट प्लान पर विचार करना और कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों और आदतों से बचना महत्वपूर्ण है जो आपके स्वास्थ्य से समझौता कर सकते हैं।

यहाँ कुछ प्रमुख "क्या न करें" हैं जिन्हें सुरक्षित और पौष्टिक मानसून डाइट बनाए रखने के लिए ध्यान में रखना चाहिए:

पानी वाले खाद्य पदार्थों से बचें

मानसून के मौसम में, तरबूज और खीरे जैसे पानी वाले खाद्य पदार्थों से बचने की सलाह दी जाती है। ये खाद्य पदार्थ वर्षा जल संदूषण के कारण जलजनित रोगों के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा, यह पानी युक्त खाद्य पदार्थ ब्लोटिंग और बदहजमी का कारण बन सकते हैं, क्योंकि इस समय पाचन तंत्र अधिक संवेदनशील हो जाता है।

स्ट्रीट फूड से बचें

स्ट्रीट फूड कई लोगों के लिए मुख्य भोजन है, लेकिन मानसून के दौरान यह विशेष रूप से खतरनाक होता है। मौसमी नमी और बारिश के पानी के संपर्क में आने से बैक्टीरिया और अन्य रोगजनकों के लिए उन्हें दूषित करना आसान हो जाता है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण और फूड पॉइजनिंग से बचने के लिए, स्ट्रीट फूड से बचना और इसके बजाय घर का बना खाना खाना सबसे अच्छा है।

मसालेदार भोजन से बचें

मसालेदार भोजन पाचन संबंधी समस्याओं को और भी बदतर बना सकता है, जो मानसून के मौसम में सबसे आम स्थिति है। उच्च आर्द्रता (ह्यूमिडिटी) शरीर की पाचन क्षमता को प्रभावित करती है, और मसालेदार भोजन खाने से एसिडिटी, अपच और बेचैनी हो सकती है। अपने पेट को शांत रखने के लिए हल्का और आसानी से पचने वाला भोजन खाना बेहतर है।

तले हुए खाद्य पदार्थों से बचें

हालांकि, बरसात के मौसम में तले हुए खाद्य पदार्थ आकर्षक लग सकते हैं, लेकिन ये पाचन को भी प्रभावित कर सकते हैं। तले हुए खाद्य पदार्थों में फैट की उच्च मात्रा  पाचन को धीमा कर देती है और यह ब्लोटिंग और बेचैनी का कारण बन सकती है। इसलिए,  मानसून में स्वस्थ आहार बनाये रखने के लिए इन खाद्य पदार्थों से बचना ही समझदारी है।

नमक से बचें

अत्यधिक नमक से पानी की कमी और ब्लोटिंग हो सकती है, जो कि नमी वाले मौसम में विशेष रूप से असुविधाजनक होती है और उच्च रक्तचाप जैसी स्थितियों को बढ़ा सकती है। मानसून डाइट के हिस्से के रूप में, नमक का सेवन कम करने से द्रव संतुलन बनाए रखने और इस अवधि के दौरान अनावश्यक स्वास्थ्य जटिलताओं से बचने में मदद मिलती है।

सीफूड सीमित करें

मानसून आमतौर पर कई प्रकार की मछलियों और अन्य समुद्री खाद्य पदार्थों के प्रजनन का मौसम होता है, जो उन्हें संदूषण और संक्रमण के लिए अधिक संवेदनशील बनाता है। इस मौसम में समुद्री भोजन का सेवन करने से खाद्य जनित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। समुद्री भोजन को सीमित करना या उससे बचना और मौसम बीतने तक इंतजार करना सुरक्षित है।

कच्ची पत्तेदार सब्जियों से परहेज करें

कच्ची पत्तेदार सब्जियों में गंदगी, बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्मजीव हो सकते हैं जिन्हें पूरी तरह से निकालना मुश्किल होता है, खासकर बरसात के मौसम में। अगर इन्हें खा लिया जाए तो ये पेट में संक्रमण और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं। इस समस्या से बचने के लिए, हानिकारक सूक्ष्मजीवों को मारने और उन्हें सुरक्षित बनाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों को अच्छी तरह से पकाएं।

निष्कर्ष

मानसून का मौसम गर्मी की तपिश से राहत देता है, लेकिन आहार के संबंध में कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। ऊपर दिए गए मानसून डाइट गाइड से आपको जानकारी मिलेगी कि कौन से खाद्य पदार्थ आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं और कौन से खाद्य पदार्थ मानसून के मौसम में जोखिम पैदा करते हैं।

मानसून के दौरान स्वस्थ रहना केवल सही आहार बनाए रखने के बारे में नहीं है, बल्कि हमारे आस-पास की सफाई बनाए रखने के बारे में भी है। भोजन से पहले और बाद में अपने हाथ धोएं, सुनिश्चित करें कि आपकी सब्जियाँ पकाने से पहले अच्छी तरह से धुली हुई हों, और हाइड्रेटेड रहें लेकिन सुरक्षित पीने के पानी से।

इसके अलावा, मानसून के दौरान अपने स्वास्थ्य मापदंडों की जाँच करने के लिए मेट्रोपोलिस लैब्स के साथ घर पर सैंपल कलेक्शन बुक करने पर विचार करें।

Talk to our health advisor

Book Now

LEAVE A REPLY

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular Tests

Choose from our frequently booked blood tests

TruHealth Packages

View More

Choose from our wide range of TruHealth Package and Health Checkups

View More

Do you have any queries?